International Journal of Humanities and Social Science Research

International Journal of Humanities and Social Science Research

ISSN: 2455-2070

Vol. 5, Issue 2 (2019)

‘प्रसाद’ के काव्य : बिम्ब विधान में वविध्य

Author(s): डाॅ0 समयलाल प्रजापति
Abstract: इन्द्रियों के आधार पर बिम्बों का वर्गीकरण केवल विवेचन की सुविधा के लिए किया जाता है, क्योंकि बिम्ब-विधान की प्रक्रिया में मन एकाधिक इन्द्रियों के विषय में संचरण करता है। अतः बिम्ब स्वरूपतः किसी न किसी अंश तक संश्लिष्ट रहते हैं। वर्ग विशेष के अन्तर्गत उनका स्वरूप-निर्धारण किसी एक तत्व की प्रधानता के आधार पर होता है। कवि की सफलता इस बात में है कि वह बिम्बों का संग्रहण इस प्रकार करे कि उसकी रचना क्रय-हीन बिम्बों का मात्र ‘‘एलबम’’ न बन जाये। एक ही प्रतिपाद्य विषय के विविध पक्षों के सौन्दर्य का उद्घाटन करने के लिये रूप, शब्द आदि विविध बिम्बों का स्थान-स्थान पर संयोजन किया जाता है।
Pages: 42-45  |  500 Views  56 Downloads
International Journal of Humanities and Social Science Research
Journals List Click Here Research Journals Research Journals