International Journal of Humanities and Social Science Research

International Journal of Humanities and Social Science Research


International Journal of Humanities and Social Science Research
International Journal of Humanities and Social Science Research
Vol. 6, Issue 1 (2020)

महाभारत से सम्बन्धित प्रमुख घटना एवं तथ्य


श्रीमती प्रतिभा तिवारी

भारतीय धर्म संस्कृति एवं दर्शन का पूर्ण चित्र उपस्थित करने वाला एक मात्र ग्रन्थ महाभारत ही है महाभारत 18 पर्वो मंे निबद्ध है तथा इसकी प्रगति के तीन चरण है जिसका निबन्धन क्रमशः जय भारत और महाभारत के रूप में विभिन्न उद्देश्य की पूर्ति के लिये किया गया है महाभारत का मूलरूप जयनाम से प्राप्त होता है इसकी रचना महार्षि वेदव्यास ने की थी इस 8800 श्लोक थे।
जयो नामेतिहासोऽयं श्रोतत्यांे विजिगीषुणा। (महा0 1/26/20)
विजय की इच्छा रखने वालांे के द्वारा यह इतिहास सुना जाना चाहिये।
’’नारायण नमस्कृतं नरं चैव नरोत्तमस।
देवी सरस्वती चैव ततो जय मदुरीयते।।
नारायण तथा मनुष्यांे में उत्तम नर तथा देवी सरस्वती को प्रणाम करके इस जय लाम के काव्य का वर्णन किया गया है द्वितीय चरण मंे इसे भारत कहा गया इसमंे 24000 श्लोक थे इसे वैम्पायन द्वारा लिया गया ’’ चतुविशंति साहस्त्री चक्रे भारत संहिताम् तृतीय चरण मंे 1,00000 श्लोक थे इसका विस्तार लोमहर्षण नाम के सूत ने किया सूत जी ने शौनक आदि ऋषियांे को इसका श्रवण कराया।
Download  |  Pages : 16-19
How to cite this article:
श्रीमती प्रतिभा तिवारी. महाभारत से सम्बन्धित प्रमुख घटना एवं तथ्य. International Journal of Humanities and Social Science Research, Volume 6, Issue 1, 2020, Pages 16-19
International Journal of Humanities and Social Science Research