International Journal of Humanities and Social Science Research

International Journal of Humanities and Social Science Research


International Journal of Humanities and Social Science Research
International Journal of Humanities and Social Science Research
Vol. 6, Issue 6 (2020)

डाॅ. राममनोहर लोहिया का आर्थिक दर्शन


डाॅ. सुनीता कुमारी

लोहिया जी कहना था कि वैज्ञानिक युग में उत्पादन की वृद्धि एवं मशीनों का प्रयोग विकसित एवं विकासशील दोनों ही देशों के लिए न केवल आर्थिक बल्कि राजनीतिक और सामाजिक समस्या भी बन गयी है। लोहिया जी का विचार है कि विश्व के विभिन्न देशों में यदि आर्थिक विषमतायें है तो उसका अलग कारण है परंतु भारत में आर्थिक विषमता का मूल कारण है जाति व्यवस्था का होना।
Download  |  Pages : 169-170
How to cite this article:
डाॅ. सुनीता कुमारी. डाॅ. राममनोहर लोहिया का आर्थिक दर्शन. International Journal of Humanities and Social Science Research, Volume 6, Issue 6, 2020, Pages 169-170
International Journal of Humanities and Social Science Research