International Journal of Humanities and Social Science Research

International Journal of Humanities and Social Science Research


International Journal of Humanities and Social Science Research
International Journal of Humanities and Social Science Research
Vol. 6, Issue 3 (2020)

समकालीन संदर्भ में जनजातीय महिलाओं की सामाजिक प्रस्थिति: एक समाजशास्त्रीय अध्ययनः जनपद उधम सिंह नगर के थारू जनजाति के विशेष संदर्भ में


रवि कान्त कुमार

समकालीन वैश्विक समाज वैश्वीकरण एवं संचार क्रांति के दौर से गुजर रहा है। यह वह दौर जिसने समस्त समुदाय को विविध रूपों में संक्रमित करने का कार्य किया है। संक्रमण का यह दौर एक ओर जहां विविध पारंपरिक बंधनों से मुक्त कर एक नई दुनियां से रू-ब-रू कराने का कार्य किया है, वहीं दूसरी ओर इसने अनेक ऐसी संस्कृति को भी लुप्तप्राय स्थिति में लाने का कार्य किया है, जो कभी किसी एक समुदाय या क्षेत्र की पहचान हुआ करती थी। थारू समुदाय जो भारत एवं नेपाल के सीमावर्ती तराई भावर के क्षेत्रों में निवासरत है, पर भी बदलते समय का प्रभाव स्पष्ट रूप से परिलक्षित होता है। भारत में इसका मुख्य निवास स्थान उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश एवं बिहार के नेपाल के समीपवर्ती जनपदों में है। आज जबकि सम्पूर्ण भारतीय समाज में वर्षों तक हासिए पर रहे महिलाओं के उत्थान के लिए सरकारी एवं गैर सरकारी स्तर पर विविध प्रयत्न किए जा रहे हैं, ऐसे में थारू समाज की महिलाओं की सामाजिक स्थिति में आए परिवर्तन का मूल्यांकन करना आवश्यक प्रतीत होता है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि अनेक मानवशास्त्रियों एवं समाजशास्त्रिों के शोध से यह ज्ञात होता है कि इनकी उत्पति काल से ही महिलाओं की स्थिति पुरूषों की तुलना में उच्च रही है। बावजूद इसके समकालीन समय में महिलाओं के सामाजिक उत्थान हेतु किए जा रहे प्रयासों में अपेक्षित सफलता प्राप्त होते दिखाई नहीं देता है। क्योंकि यह समुदाय उत्तराखंड से लेकर बिहार तक एक विस्तृत भौगोलिक एवं सांस्कृतिक क्षेत्र में फैला हुआ है, इसलिए यह अत्यन्त महत्वपूर्ण हो जाता है कि इस अध्ययन को एक भौगोलिक एवं सांस्कृतिक परिक्षेत्र में सीमित कर इसका अध्ययन किया जाए। भौगोलिक एवं सांस्कृतिक सीमाओं का सीमांकन किया जाना इसलिए भी महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि एक ओर जहां बदलती सांस्कृतिक सीमाओं के साथ महिलाओं की स्थिति एवं विचारधाराओं में बदलाव आ जाता है वहीं राज्य की सीमाओं के बदलते ही संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति में भी बदलाव आ जाता है। इसी कारण प्रस्तुत अध्ययन कार्य हेतु ‘‘समकालीन संदर्भ में जनजातीय महिलाओं की सामाजिक प्रस्थिति: एक समाजशास्त्रीय अध्ययन ‘जनपद उधम सिंह नगर के थारू जनजाति के विशेष संदर्भ में‘‘ शीर्षक विषय का चयन किया गया है। इस कार्य हेतु अध्ययन क्षेत्र के रूप में जनपद उधम सिंह नगर के विकास खण्ड खटीमा एवं सितारगंज के ग्राम श्रीपुर विचवा तथा पहेनिया का चयन किया गया है तथा इस ग्राम से सोद्देश्य निदर्शन प्रणाली द्वारा 25-25 परिवारों को अध्ययन निदर्श के के रूप में चुना गया है। इनसे प्राप्त आंकड़े तथा अन्य द्वितीयक स्रोतों से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर निष्कर्ष का आलेखन किया गया है।
Download  |  Pages : 21-27
How to cite this article:
रवि कान्त कुमार. समकालीन संदर्भ में जनजातीय महिलाओं की सामाजिक प्रस्थिति: एक समाजशास्त्रीय अध्ययनः जनपद उधम सिंह नगर के थारू जनजाति के विशेष संदर्भ में. International Journal of Humanities and Social Science Research, Volume 6, Issue 3, 2020, Pages 21-27
International Journal of Humanities and Social Science Research International Journal of Humanities and Social Science Research